रविवार, 1 अप्रैल 2012

एक कठपुतली तेरी माधव !


श्री चरणों में अनुभूति 
तुम्हारी एक कठपुतली माधव ...........

कोई टिप्पणी नहीं: