शनिवार, 31 मार्च 2012

तुझे रब ने बनाया किस लिए ........

कोई टिप्पणी नहीं: