शुक्रवार, 2 सितंबर 2011

आज त्याग सारा संसार में हुयी तेरी



मेरे कृष्णा !
देखि तेरी दुनिया
तुझसा साँचाकोई नहीं
इतना जानू
आज त्याग सारा संसार में हुयी तेरी
मेरे श्याम !
मेरा सिंगार भी तुम
और अखियन से गिरती अश्रु धार भी
तुम ही हो
मेरा जीवन तुझको अर्पण
मेरे श्याम !
श्री चरणों में अनुभूति

कोई टिप्पणी नहीं: