बुधवार, 29 जून 2011

नेनो में बदरा छाये बिजली सी चमके हाय ,


नेनो में बदरा छाये बिजली सी चमके हाय ,
एक मीठा गीत 
 तेरे सुर और मेरे गीत दोनों मिले तो बने जीवन संगीत 
अनुभूति

कोई टिप्पणी नहीं: